नैनो टेक्नोलाॅजी से साफ होगा दूषित पानी, IIT मद्रास ने विकसित की तकनीक

 

 

जल ही जीवन है और जल के बिना इंसान अपने जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकता है। बदलते मौसम और ग्लोबल वार्मिंग की वजह से आज देश की एक बड़ी आबादी दूषित पानी पीने को मजबूर है। परंतु इस समस्या को दूर करने के लिए IIT के वैजानिकों ने सफलता हासिल की है। इन वैज्ञानिकों ने नैनों टैक्नोलाॅजी पर आधारित फिल्टर बनाने में सफलता हासिल की है, जो महज 3 पैसे में एक लीटर पानी कोे साफ कर सकता है। आज भी हमारे देश में 21 राज्यों की 13 करोड़ से भी अधिक आबादी आर्सेनिक से दूषित पानी पीने को मजबूर है। ऐसे में आईआईटी मद्रास के प्रोफेसर टी, प्रदीप और उनकी टीम इस समस्या कोे दूर करने में सफल हुई है। उनकी बनाई गई नैनों टेक्नोलाॅजी आधारित फिल्टर ऐसे लोगों के लिए वरदान साबित हो रहा है। जो दूषित पानी पीने को मजबूर थे।