आज विश्व खाद्य दिवस

16 ओक्टुबर को हर साल देश  और दुनिया में विश्व खाद्य दिवस मनाया जाता है | वर्ष 1945 में संयुक्त राष्ट्र द्वारा शुरू किये गए खाद्य और कृषि संगठन की स्थापना की तिथि के सम्मान में यह दिवस मनाया जाता है | हर साल विश्व खाद्य दिवस 150 से अधिक देशों में मनाया जाता है | और भूख और गरीबी की पीछे समस्यायों और कारणों की चेतना और  ज्ञान के बारे में जागरूक करता है | भारत में यह दिवस कृषि के महत्व को दर्शाता है और इस तथ्य पर बल देता है की भारतियों के द्वारा उत्पादित और उपभोग किया जाने वाला भोजन सुरक्षित और स्वस्थ है | हमारा भारत देश विभिन्न संस्कृति और परम्परा का एक  देश है | यह परंपरा अलग-अलग राज्यों के हिसाब से भिन्न-भिन्न होती है | घर में चाहे कोई छोटा सा उत्सव हो या कोई बड़ा त्यौहार ,शादी हो या जन्मदिन ,हर त्यौहार में विभिन्न प्रकार के पकवान बनाये और खिलाये जाते है | इन अवसरों पर बहुत  सा खाना बच जाता है जो की बाद में व्यर्थ हो जाता है | इस बचे हुए खाने को व्यर्थ न करते हुए हमें इस भोजन को सुरक्षित रखना चाहिए और गरीबों और जरूरतमंदों में वितरित करना चाहिए ताकि कोई भी व्यक्ति भूका न सो सके | आज भी विश्व में भारत को एक गरीब देश हो समझा जाता है | जहां आज भी कई लोग भूखे सोने को मज़बूर है | ऐसे गरीब देश में खाने को व्यर्थ करना समझ से परे है |  इसलिए खाने को व्यर्थ करने से पहले सोच लेना चाहिए की कहीं कोई इंसान भूखा सो रहा है | और आपके इस बचे हुए खाने से उसका पेट भर  सकता है | इसलिए इस खाद्य दिवस हमें ये संकल्प लेना होगा की खाद्य पदार्थों को न ही व्यर्थ करेंगे और न किसी को करने देंगे तभी आज  के दिन का महत्व सही साबित होगा |